जनता कर्फ्यू 26 अप्रैल तक बढ़ाया 25-25 वर एवं वधू पक्ष के लोग विवाह में शामिल हो सकेंगे जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लिये निर्णय

Spread the love
241 Views

जनता कर्फ्यू 26 अप्रैल तक बढ़ाया
25-25 वर एवं वधू पक्ष के लोग विवाह में शामिल हो सकेंगे
जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लिये निर्णय

उज्जैन 17 अप्रैल। जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक आज उज्जैन जिले के कोविड प्रभारी एवं उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या के मद्देनजर जनता कर्फ्यू की अवधि 19 अप्रैल से बढ़ाकर 26 अप्रैल की जाये। जनता कर्फ्यू में सुबह 8 से 12 तक पूर्ववत दुकान खोलने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया। विवाह में 25 वर पक्ष के एवं 25 वधू पक्ष के लोग शामिल हो सकेंगे। विवाह का आयोजन धर्मशाला, गार्डन आदि स्थानों पर निर्धारित संख्या का कड़ाई से पालन करते हुए किया जा सकेगा। विवाह में बैंड-बाजा एवं प्रोसेशन नहीं निकाला जायेगा। 19 अप्रैल से नगरीय क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी जनता कर्फ्यू लागू किया जायेगा।
जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक आज बृहस्पति भवन में आयोजित की गई। बैठक में सांसद श्री अनिल फिरोजिया, विधायक श्री पारस जैन, श्री रामलाल मालवीय, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, एडीएम श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, जिला पंचायत सीईओ श्री अंकित अस्थाना, नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, अपर कलेक्टर श्री एसएस रावत, सीएमएचओ डॉ.महावीर खंडेलवाल, श्री विवेक जोशी, श्री बहादुरसिंह बोरमुंडला मौजूद थे।
बैठक में निम्नानुसार चर्चा की गई एवं निर्णय लिये गये :-
बैठक में ऑक्सीजन बेड बढ़ाने को लेकर चर्चा की गई तथा निर्णय लिया गया कि तत्काल 100 ऑक्सीजन काँसंट्रेटर मशीन क्रय की जाये। कलेक्टर ने बताया कि 50 मशीनों के आदेश जारी कर दिये गये हैं। साथ ही चरक में 56 नये ऑक्सीजन बेड बढ़ाये गये हैं।
बैठक में जानकारी दी गई कि भर्ती मरीजों में से ऐसे मरीजों का चिन्हांकन करके, जिनको ऑक्सीजन की आवश्यकता नहीं है, नॉन-ऑक्सीजन बेड पर आरडी गार्डी में शिफ्ट किया जाये, जिससे कि गंभीर मरीजों को समय पर बेड उपलब्ध हो सके।
बैठक में आगामी समय में कोविड पॉजीटिव प्रकरणों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर 1500 ऑक्सीजन बेड की प्लानिंग करने का निर्णय लिया गया। वर्तमान में शासकीय अस्पतालों में कुल 556 ऑक्सीजन बेड उपलब्ध हैं। इनमें से 17 अप्रैल की दोपहर 2 बजे तक 516 बेड भरे हुए थे।
बैठक में ऑक्सीजन की उपलब्धता पर चर्चा की गई। शासन स्तर से ऑक्सीजन टेंकर की व्यवस्था करने के प्रयास निरन्तर करने के लिये निर्णय लेते हुए स्थानीय स्तर पर माधव नगर अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट स्थापित करने के लिये बैठक में मौजूद उच्च शिक्षा मंत्री एवं अन्य दो विधायकों ने 50-50 लाख रुपये की राशि विधायक निधि से जारी करने पर सहमति व्यक्त की।
बैठक में सभी जनप्रतिनिधियों ने एक स्वर में कहा कि अस्पताल पहुंचने वाले प्रत्येक मरीज को गंभीरतापूर्वक चिकित्सकीय स्टाफ को अटेंड करना चाहिये। इस सम्बन्ध में वरिष्ठ अधिकारी अपने मातहतों को निर्देश जारी करें।
बैठक में चर्चा की गई कि पीटीएस में 600 से 700 नॉन-ऑक्सीजन बेड चालू किये जा सकते हैं। इस पर गंभीरता से प्रयास प्रारम्भ किये जायें।
विभिन्न विकास खण्डों एवं तहसीलों में संचालित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी ऑक्सीजन बेड बढ़ाये जाने पर चर्चा की गई, जिससे जिला स्तर पर दबाव कम हो सके।
बैठक में उज्जैन जिले में रेमडीसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति कम होने पर चिन्ता व्यक्त की गई एवं शासन से आग्रह किया गया कि जितनी आवश्यकता है उतने इंजेक्शन की सप्लाई सुनिश्चित की जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed