नागदा के बेरछा रोड के नाबालिक के अपहरण बाद मर्डर का खुलासा

Spread the love

दिनांक – 11.07.2021

नागदा के बेरछा रोड के नाबालिक के अपहरण बाद मर्डर का खुलासा

घटना का संक्षिप्त विवरण व् पुलिस की सराहनीय कार्यवाही – दिनाक 9.6.2021 के शाम 6 बजे नागदा से लापता नाबालिक रितेश गुर्जवाडिया के परिजनों से फिरोती की मांग व नाबालिक रितेश के मर्डर को ट्रेस करने में श्रीमान ADG महोदय श्री योगेश देशमुख व पुलिस अधीक्षक उज्जैन श्री सतेन्द्र कुमार शुक्ल के मार्गदर्शन में अति.पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) श्रीआकाश भूरिया व नगर पुलिस अधीक्षक नागदा श्री मनोज रत्नाकर के नेत्रत्व में नागदा पुलिस को २४ घंटे में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई I

घटना का विवरण – फरियादी राधेश्याम पिता रुघनाथ गुर्जवाडिया उम्र 42 साल नि. पाल्या बैरछा रोड नागदा ने थाने पर आकर रिपोर्ट की, कि मै बैरछा रोड पाल्या रहता हुँ तथा ड्राईवरी का काम करता हुँ । मेरे तीन बच्चे है । सबसे छोटा रितेश उम्र 17 साल है जो कक्षा मै 9 वी की पढाई करता है । मेरा लडका रितेश , सचिन आटो पार्टस दुकान के पीछे कराटे सिखने जाता है । मै कल ट्रक लेकर बदनावर गया हुआ था रात करीब 8.30 बजे बदनावर मै मेरे मोबाईल नं. 9589513913 पर मेरे लडके रितेश के मोबाईल नं. 8109930096 से फोन आया किसी अज्ञात व्यक्ति ने मुझसे बोला तुम्हारा लडका मेरे पास है । एक लाख रुपये की व्यवस्था कर लो मै इस बात को मजाक समझा और मैने मेरे घर पर मेरी पत्नि श्यामुबाई से पूछा कि रितेश घर पर आया कि नही तो मेरी पत्नि श्यामुबाई ने बोला कि रितेश कराटे क्लास मे गया था जो वापस घर पर नही आया है । फिर मैने मोबाईल लगाकर मेरे परिचित लोगो से रितेश के बारे मे तलाश किया पता नही चला फिर मै घर आया मेने मेरे लडके रितेश के दोस्त सत्यम व शुभम से पुछा तो उन्होने बताया कि रितेश व हम तीनो साथ मे कराटे क्लास गए थे । कराटे क्लास खत्म कर हम तीनो करीब
. 6-30 बजे बस स्टेण्ड पर गोस्वामी कि दुकान के पास आये । वहा से रितेश महिदपुर रोड तरफ चला गया था । मेरे लडके रितेश ने लाल टीशर्ट व ब्लेक रंग का लोवर पहने है । कोई अज्ञात बदमाश मेरे लडके रितेश गुर्जरवाडिया उम्र 17 साल का अपहरण कर ले गया है । रिपोर्ट पर से अपराध क्र. 604/21 घारा 363 भादवि कायम कर जांच में लिया गया ,

पुलिस की कार्यवाही – घटना की सूचना उज्जैन पुलिस अधिक्षक श्री सतेन्द्र शुक्ल, अति.पुलिस अधीक्षक(ग्रामीण) श्रीआकाश भूरिया,नगर पुलिस अधीक्षक श्री मनोज रत्नाकर को दी गई ,श्रीमान पुलिस अधीक्षक उज्जैन द्वारा ततकाल घटना की सूचना ADG महोदय श्री योगेश देशमुख साहब को दी गई , ADG महोदय श्री योगेश देशमुख साहब एव उज्जैन पुलिस अधिक्षक श्री सतेन्द्र शुक्ल साहब ने अपराध की गंभीरता को देखते हुए तत्काल उज्जैन ड्यूटी में चल रहे अति.पुलिस अधीक्षक(ग्रामीण) श्रीआकाश भूरिया,नगर पुलिस अधीक्षक श्री मनोज रत्नाकर को तत्काल नागदा पहुचने हेतु निर्देशित किया ,दोनों अधिकारी बिना विलम्ब किये थाना नागदा पहुचे, जिन्होंने थाना प्रभारी नागदा के नेतृतव में नागदा पुलिस को अलग – अलग टीम बनाकर घटना स्थल के आस पास के cctv फुटेज देखने व आस पास के लोगो से पूछताछ हेतु लगाया गया तथा बाद नागदा पुलिस व् साइबर उज्जैन टीम द्वारा घटना स्थल पुराना बँस स्टेन्ड गोस्वामी होटल के सामने व आस पास सी.सी.टी.वी. फुटेज चेक किया अपर्हता रितेश गुर्जरवाडिया को अन्तिम बार सत्यम पिता ईश्वर निम्बोला निवासी शिव कालोनी नागदा के साथ देखा जाने पर सन्देही सत्यम निम्बोला की तलाश घर पर की नही मिला बाद अपर्हत रितेश गुर्जरवाडिया व अज्ञात आरोपी कि तलास पाल्या रोड , महिदपुर रोड , राजस्थानी ढाबा , बाँय पास, गोल्डन केमिकल चोराहा, कोटा फाटक, रेल्वे स्टेशन तथा आसपास के नाले व् झाड़ियो में अपर्हत की पतारसी की गई तथा कई लोगो से पूछताछ की गई ,इसी दोरान सुचना मिली कि एक लडके का शव बी.सी.सी.आई ग्राउन्ड के खण्डेर पडे मकान के अन्दर मिली है । सुचना पर तत्काल टीम बी.सी.सी.आई. ग्राउन्ड पहुची जहा मृतक के पिता फरियादी राधेश्याम गुर्जरवाडिया ने मृतक की लाश को पहचान कर अपर्हत रितेश गुर्जरवाडिया की लाश होना बताया, घटना स्थल पर श्रीमान पुलिस अधिक्षक महोदय, श्रीमान अति. पुलिस अधिक्षक महोदय, श्रीमान सी.एस.पी. महोदय , एफ.एस.एल. अधिकारी श्री अरविन्द नायक तत्काल पहुचे ,घटना स्थल का बारिकी से निरीक्षण के बाद आवश्यक निर्देश दिए गए । शव मिलने का स्थान बी.सी.सी.आई थाना बिरलाग्राम क्षैत्र का होने से मोके कि कार्यवाही थाना बिरलाग्राम के द्वारा की गई । बाद कार्यवाही शव को सीएच नागदा PM हेतु भेजा जाकर, PM उपरात शव को परिजनों के सुपुर्द कर ,प्रकरण में धारा 302 भादवि बड़ाई जाकर ,
मृतक रितेश के दोस्त शुभम पिता ईश्वर निबोला निवासी शिव कॉलोनी बेरछा रोड नागदा ने पूछताछ पर बताया कि रितेश व मेरा बड़ा भाई सत्यम ,हम तीनो घर शिव कॉलोनी बेरछा रोड से समय करीबन शाम 5 बजे मो.सा. से साथ मे कराटे क्लास मदर मेरी स्कूल के पास गए थे ,शाम 6.30 बजे क्लास के बाद मुझ शुभम को बस स्टेंड अपने समोसा की दूकान पर छोड़ कर ,रितेश को भाई सत्यम अपनी मोटरसाइकिल से लेकर तशवीर लेने बाज़ार चला गया ,बाद कुछ देर बाद आया और बस स्टेंड से मुझे साथ लिया और हम तीनो योगेश मीना नई दिल्ली वाली गली पहुचे भाई सत्यम ने मुझे वही योगेश के घर शाम करीबन 7 बजे छोड़ दिया ,और रितेश को लेकर चला गया ,काफी देर बाद भाई सत्यम ही मोटरसाइकिल से अकेला ही योगेश मीना के घर आकर मुझे लेकर घर बेरछा रोड आया ,फिर रात्री 8.30 बजे के बाद रितेश के परिवार वालो ने बताया की रितेश अभी तक नहीं आया तब मै और पिता व् भाई सत्यम उसे ढूढने निकले ,भाई से पूछा तो उसने बताया की रितेश बस स्टेंड से अपने किसी दोस्त के साथ साइकिल से चला गया था ,
घटनाक्रम का खुलासा
मृतक रितेश के दोस्त सत्यम पिता ईश्वर निबोला निवासी शिव कॉलोनी बेरछा रोड नागदा से पूछताछ पर पहेले तो बस स्टेंड पर छोड़ना ओर रितेश को किसी दोस्त के साथ साइकिल में जाना बताया ,परतु बस स्टेंड पर लगे cctv कैमरे के अनुसार संदिग्ध बाते सामने आने पर हिकमत अमली से बारीकी से पूछताछ पर घटना करने का जुर्म कबुल किया और बताया की रितेश ने ओन लाइन गेम खेलने के लिए 5 हज़ार रुँपये उधार लिए थे जो वापस नहीं कर रहा था तो दिनाक दिनाक्क 8.7.21 को सुबह रितेश से रूपए मांगने पर विवाद हुआ आपस में एक दुसरे ने माँ बहिन की गालिया दी, रितेश ने कहा की रुँपये नहीं देंगे जो कर पाए सो कर लेना ,फिर उसी दिन मैंने रितेश को मारने की व मारने के बाद उसके परिवार वालो से फिरोती के रुपये की प्लानिंग की ओर दिनाक 9.7.21 को सुबह 9 बजे रितेश से लड़ाई झाडा पर सुलह कर बात की और कहा कि बी.सी.आई. मे फोटो खिचने चलेंगे । प्लानिंग के मुताबिक़ दोपहर 11 बजे करीबन बस स्टेंड गया गुरु प्लास्टिक वाले की दूकान से टॉयलेट साफ़ करने के नाम से एसीड की बोतल 10 रुपये में खरीद कर , मोटर साइकिल से अकेला बिरलाग्राम के बीसीआई खण्डर मे जाकर एक कमरे में एसीड की बोतल छुपाकर रखकर वापस घर आ गया । शाम 5 बजे अपने छोटे भाई व् रितेश को लेकर कराटे कोचिंग क्लास गया ,साडे 6 बजे क्लास छूटने के बाद मैंने रितेश से उसका मोबाइल देखने के लिए लिया ,चुपके से उसकी सिम इन्सर्ट कर दी और मोबाइल अपने पास रख लिया ,बाद कराटे क्लास से हम तीनो मोटर साइकिल से बस स्टेंड आये शुभम को बस स्टेंड छोडा,रितेश को लेकर मोटर साइकिल से मिर्ची बाजार तश्वीर लेने गया ,नहीं मिली फिर बस स्टेण्ड से शुभम को लेकर योगेश मीणा के घर शाम को करीबन 7 बजे पहुच कर शुभम को छोडा । योजना के मुताबिक़ मै रितेश को लेकर बीसीआई खण्डर फोटो खीचने के बहाने पहुचा , मोटर साइकिल बाहर खडी कर फोटो खीचने के लिए दोनों अंदर गए, जहा मैंने रितेश से अपने 5 हज़ार रुपये मांगे ,हम दोनों में हाथापाई हुई मैंने कराते के दो पञ्च उसके पेट में मारे जिससे वह जमीन पर घिर कर बेहोश हो गया ,फिर अपनी कोहनी से उसके गला दबा कर मार दिया और पहले ही छुपाकर रखी एसीड की बोतल को रितेश के चेहरे पर डाल दिया जिससे कोई उसको पहचान नहीं पाए , बीसीआई खण्डर से अपनी मोटरसाइकिल से बस स्टेंड पहुच कर रितेश के मोबाइल की सिम को मोबाइल में लगाकर उसी के मोबाइल से रितेश के पिता को फोन लगाकर एक लाख रुपये की मांग की बाद सिम निकालकर हर्ष ठाकुर के पास गया और कहा की यह मोबाइल रख लेना, मै वापस ले जाऊँगा ,हर्ष ठाकुर के पास मोबाइल छोड़ कर योगेश मीना के घर जाकर अपने छोटे भाई शुभम को लेकर अपने घर चला आया । कुछ देर बाद रितेश के परिवार वालो ने हम से पूछा की रितेश तुम्हारे साथ गया था कहा है तब मैंने झूठ बोल दिया की मैंने उसे बस स्टेंड पर छोड़ दिया था वह किसी दोस्त के साथ साइकिल पर चला गया था । फिर उन सब को दिखाने के लिए रितेश को ढूंढने के लिए उसके परिवार के निकला I

नाम गिरफ्तार आरोपी – सत्यम निबोला पिता ईश्वर निबोला उम्र 19 साल निवासी शिव कॉलोनी बेरछा रोड नागदा

जप्त सामग्री-
1.घटना वक्त पहने आरोपी सत्यम निबोला के कपडे (शर्ट)
2. मृतक का मोबाइल आरोपी सत्यम निबोला ने जिससे मृतक के पिता से फिरोती की मांग की
3. घटना में उपयोग की मोटर साइकिल क्र.MP13/DV/0315 काले रंग की हौंडा शाइन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed